गुरमटिया म सावन अउ महतारी

Shakuntala Sharmaसावन के का बात हे भाई सावन तो मन भावन ए
सबो महीना आथे- जाथे फेर सावन तो सावन ए

आघू के गीत शकुन्तला शर्मा जी के छत्तीसगढ़ी ब्लॉग गुरमटिया म पढ़व.

महतारी हर महतारी ए देवी – देवता मन ले बड़े
माँ के जनम ह पर बर होथे ओकर त्याग हे सब ले बड़े |
आघू के गीत शकुन्तला शर्मा जी के छत्तीसगढ़ी ब्लॉग गुरमटिया म पढ़व.

Related posts:

Leave a Reply