ठुमरी

सावन ह आगे तैं आ जा संगवारी
झटकुन नइ आए तव खाबे तैंगारी।
नरवा अउ नदिया म ह आए हे
मोर मन के झूलना बादर म टंगाए हे।
हरियर-हरियर हावय भुइयॉं महतारी
झटकुन नइ आए तव खाबे तैं गारी।
बड़ सूना लागत हे सावन म अंगना
अगोरत हे तोला ए चूरी ए कंगना।
सुरता ह ठाढे हावय धर के आरी
झटकुन नइ आए तव खाबे तैं गारी।
सावन ह आगे तैं आ जा संगवारी
झटकुन नइ आए तव खाबे तैं गारी।

शकुन्तला शर्मा
288/7 मैत्रीकुँज भिलाई 490006
अचल 0788 2227477 चल 09302830030

Related posts:

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *