राखी के आगे तिहार

राखी के आगे तिहार मोर भईया, राखी के आगे तिहार।
जल्दी आबे अबेर झन करबे, बईठे रहूं मंय तियार।
मोर भईया राखी के आगे तिहार…

भाई बहिनी के दया मया बर,ये तिहार हा आथे।
भईया बहिनी के रक्षा करथे,रक्षा बंधन कहाथे।
भाई येहा डोरी नोहय,हरय मया दुलार।

राखी के आगे तिहार..

भईया रहिथे मोर ले दुरिहा,मंय रहिथंव परदेश।
मोर मंयारू भईया लेवत रहिथे,मोर सोर संदेश।
तीजा पोरा मा जम्मो झन सकलाबो,बाढ़थे मया दुलार।

राखी के आगे तिहार..

लईका पन के सब्बो संगवारी,अभी ले सुरता आथे।
खेलन कूदन पढ़न लिखन,रहि रहि के मोला रोवाथे।
बने रिहिस लईकापन भईया,नई आतेंव ससुरार।

राखी के आगे तिहार मोर भईया,राखी के आगे तिहार।

केंवरा यदु ‘मीरा’

Related posts:

Leave a Reply