संपादकीय : मोर डांड तो छोटे तभे होही संगी, जब आप बड़का डांड खींचहू

संगी हो, थोकन गुनव, फेर गोठियाहूं..

Related posts:

Leave a Reply