चल सहर जातेन : हेमनाथ यदु

चल सहर जातेन रे भाई
गांव ला छोड़ के सहर जातेन ।

ढकर ढकर पसिया पीके, कमई करे जाथन
बइला भंइसा कस कमाथन, गांव मां दुख पाधन
दुख ला हरे जातेन रे भाई ..।

माड़ी भरके चिखला हावय रद्दा किचकिच लगथे
माड़ी ऊपर धोती उघारत अडबड लाज लगथे
चिक्कन चिक्कन रेंग तेन रे भाई .. ।

टिमटिम टिमटिम दिया करे, धुंगिया आँखी भरथे
डर लागथे कोलिहा के बोली, हुवां हुवां जब करथे
बिजली बत्ती बारतेन रे भाई .. ।

– हेमनाथ यदु
चंदैनी गोंदा के लोकप्रिय गीत Chal Shahar Jaten

Leave a Comment