सुकवि बुधराम यादव जी के गज़ल

Related posts:

One comment

  • ramesh kumar chauhan

    गुतुर गुतुर गोठ म बुधराम यादव के गोठ ।
    सुटुर सुटुर लाइन म कहिगे बात कतका रोठ ।।

Leave a Reply