होली के रंग – राशिफल के संग




हमर हिन्दू धर्म में पंचांग के बहुत महत्व हे।कोई भी काम करथन त पहिली पंचांग देखथन तब काम के शुरूआत करथन।राशिफल ह हमर जीवन में बहुत महत्व रखथे ।एकर से हमला शुभ अशुभ के जानकारी होथे ।
होली के शुभ अवसर में ज्योतिसाचार्य स्वामी भकानंद जी के द्वारा भांग के नशा में बनाय गे राशिफल आप मन के सामने प्रस्तुत हे –

मेष -( अ,चु, चे, चो, ला, ली,लू,ले, )
ए साल ह मेष राशि वाला मन बर जादा अच्छा नइहे ।परिवार में कलह अऊ अशांति रही ।व्यापार ह मंदा रही।काबर कि ओकर राशि में अढैया शनि के प्रभाव परत हे।मंगल ह अपन घर ले पाछू डाहर घुंच गे हे।तिहार बार में जादा पीना हानिकारक हे।एक्सीडेंट के संभावना हे।
उपाय – चार ठन नींबू ल ओकर बीच ल चीर के राख ल भर दे अऊ बीच चौक में जाके चारों डाहर एक एक ठन नींबू ल फेंक दे।एकर से किरपा आही ।

वृष – (इ,उ,ए,ओ,वा,वी,वू, वे,वो)
वृष राशि बर ए साल ह थोकिन बढ़िया हे।बुध अऊ शुक्र ह जादा ताकतवर दिखत हे।गड़े हंडा मिले के संभावना हे।सावधानी भी बरते के जरूरत हे।नहीं ते हंडा के बटवारा में जेल जा सकत हे।लोग लइका मन ल कष्ट मिल सकत हे।टूरा – टूरी मन अब्बड़ पदोही ।
उपाय – उल्टा पांख के कारी कुकरी ल कोठा में पूजवन दे से किरपा आही ।

मिथुन – (का,की,कु, घ,ड़ ,छ,के,को,हा )
मिथुन राशि वाला मन ल बाई (पत्नी )के बात माने से बड़ फायदा होही ।ससुराल डाहर ले बहुत सहयोग मिलही ।कुंवारा टूरा – टूरी मन के जल्दी बिहाव के योग दिखत हे।बिहाव के पहिली टूरा – टूरी मन ल मोबाइल में जादा देर तक गोठियाना नुकसान दायक हे।एकर से मंगनी टूटे के संभावना हे।
फटफटी ल धीरे चलाय अऊ हेलमेट लगाके चलाय।नहीं ते दुर्घटना के संभावना हे।
उपाय – नींबू अऊ मिरचा ल तीन दिन तक अपन घेंच में ओरमा के घुमना हे।




कर्क – (ही,हू, हे,हो,डा,डी,डू, डे,डो )
ए साल कर्क राशि में मंगल के जगा शनि प्रवेश करत हे।अऊ राहू केतु मन चारो डाहर घूमत हे।एकर से शत्रु पक्ष ले बांच के रहे बर परही ।संगवारी मन संग बइठ के जादा खवई पीयई नुकसान दायक हे।
घर में लड़ई झगरा के संभावना हे।शारीरिक कष्ट मिल सकत हे।पढ़े लिखे मनखे मन ल नौकरी मिले के संभावना हे।
बाईं ल सोना के मंगलसूत्र पहिनाय से खुश रही ।नहीं ते रोज कलर कलर करही
उपाय – होली के दिन भांग के पुडिया ल ।शंकर भगवान में चढ़ाना हे अऊ दू दम मार के घर में चुपचाप सुतना हे।

सिंह – (मा, मि, मू,मे,मो,टा,टी,टु,टे)
सिंह राशि में कुछ दिन तक अढैया शनि के प्रभाव रहि ।एकर से शारीरिक कष्ट बढ़ सकत हे।शारीरिक कष्ट दूर करे बर होली के दिन एक पौवा अमृत रस पी सकत हे।घर परिवार में खुशी के माहोल रही ।स्वास्थ्य ह ऊंच नीच होवत रही।मोटर गाड़ी से बांच के रहना हे।कर्मचारी मन ल बिसेस लाभ मिलही।
उपाय – होली के दिन कुरता अऊ फुलपैंठ ल उल्टा पहिर के घूमना हे।







धनु -( ये,यो, भा, भी,भू,धा,फ,ढ़ा,भे)
साढ़े साती शनि लगे के कारण पति पत्नी में अब्बड़ लड़ई झगरा होही।
पति ह रोज पी के आही त पत्नी ल बाहरी के मुठिया में मारे ल परही।
राहू केतु ह बाधा पैदा करही ।जुंवा , सट्टा में हारे के संभावना हे।
मोटर गाड़ी देख के चलाना हे,नहीं ते दुर्घटना के संभावना हे।
जेवर गहना ल संभाल के रखना हे ।चोरी होय के संभावना हे।
उपाय - खैरा बोकरा ल गाँव के बाहिर में छोड़ना हे।
शनि मंत्र के जाप करना हे।

मकर -( जो,ज, जी,खी, खू, खे, खो,गा, गी )
मकर राशि वाला मन के शनि ह द्वादश इस्थान में हे ।कुछ दिन में साढ़े साती शनि शुरू हो जाही ।एकर से मानसिक तनाव अऊ घर में लड़ई झगरा शुरू हो जाही ।खरचा ह बढ़े के संभावना हे।आगी से बचके रहना हे।घर दुकान में आगी से दुर्घटना हो सकत हे।सावधानी बरते बर ड्रम में पानी भर के रखना जरूरी हे।
संगवारी मन से अनबन होय के संभावना हे।संयम बरते बर परही।
उपाय - ऊपर गोड़ नीचे मुड़ी करके "ऊं शं शनैश्चराय नमः"मंत्र के जाप रोज 108 बार करना हे।एकर से शनि देव के किरपा आही ।

कुंभ -( गू, गे,गो, सा,सी,से,सो )
ए राशि वाला मन के शनि, राहू , केतु ल छोड़ के सब ग्रह बिगड़े हुए हे।गड़े धन मिले के संभावना हे।नवा मकान अऊ नवा वाहन खरीदे के योग हे।लड़की लड़का मन के बिहाव के योग बनत हे।कोई कोई मन उढ़रिया भी भाग सकत हे।माँ बाप ल बिसेस सावधानी बरतें के जरूरत हे।
उपाय - खैरा कुकरा ल मसान घाट में जाके पूजवन देना हे अऊ रातभर हवन करना हे।

मीन- ( दी,दू, थ,झ,भ,दे,दो,चा, ची )
ए राशि वाला मन के मंगल, गुरु अऊ शनि कोनों ग्रह ठीक नइहे ।एकर सेती मन अशांत रही अऊ पति पत्नी में रोज झगरा होही ।
पत्नी के बिसेस मांग ल पूरा करे से खुश रही ।संतान प्राप्ति के योग बनत हे।अचानक धन प्राप्ति हो सकत हे।जुंवा सट्टा में जीते के योग हे।शनि के तिरछी नजर के कारण चोरी होय के प्रबल संभावना हे।
प्रेमी प्रेमिका ल कष्ट मिल सकत हे।परिवार के सहयोग नइ मिले।
उपाय - होली के दिन अपन पूरा शरीर में अंडी के तेल अऊ राख चुपर के एक गोड़ में खड़ा होके "ऊं क्रा क्री क्रौ क्रौ सः भौमाय नमः के जाप करना हे।एकर से किरपा आही अऊ सब कष्ट दूर हो जाही ।

नोट - ए राशिफल ह हंसी मजाक अऊ शुद्ध मनोरंजन खातिर लिखे गेहे।
कोई भी प्रकार से मन में शंका कुशंका झन करहूं ।

महेन्द्र देवांगन "माटी"
गोपीबंद पारा पंडरिया
जिला -- कबीरधाम (छ ग )
पिन - 491559
मो नं -- 8602407353
Email - mahendradewanganmati@gmail.com




Currently you have JavaScript disabled. In order to post comments, please make sure JavaScript and Cookies are enabled, and reload the page. Click here for instructions on how to enable JavaScript in your browser.