ये जमाना बिगड़ गे

ये जमाना बिगड़गे रे भाई ये जमाना बिगड़गे रे :-गुल्ली डण्डा के खेलईया सिरागे…2 ओ जमाना निकलगे रे… ये जमाना बिगड़गे रे भाई ये जमाना बिगड़गे रे गाड़ी फंदईया अऊ दऊंरी खेदईया, कहाँ नंदागे ओ सियान मोटर गाड़ी के जमाना हा आगे, कोन करे अब खियाल :-बईला नांगर के फंदईया नंदागे…2 ओ जमाना निकलगे रे… ये जमाना बिगड़गे रे भाई ये जमाना बिगड़गे रे अंगाकर रंधईया अऊ चिला सेंंकईया, ओ मनखे लुकागे जी ठेठरी खुरमी अऊ सुहांरी खवईया, ओ जमाना गवांगे जी :-छत्तीगढ़ीया बियंजन नंदागे…2 ओ जमाना निकलगे जी… ये…

Read More

गांव के पीरा

गांव ह गंवागे हमर शहर के अबड़ देखाई मा। मया अउ पीरा गंवागे सवारथ के सधाई मा।। सोनहा हमर भुइयां गवांगे कारखाना के लगाई मा। दुबराज धान के महक गंवागे यूरिया के छिंचाई मा। ममा मामी कका काकी गंवागे अंकल आंटी कहाई मा सुआ नाच के गीत गंवागे डी जे के नचाई मा।। बिसाहू भाई के चौपाल गंवागे टी वी के चलाईं मा। किसान मन के ददरिया गंवागे चाइना मोबाइल धरई मा। पहुना मन के मान गंवागे राम रहीम के गोठ गंवागे आपस के लड़ाई मा, सुघ्घर हमर संस्कार गंवागे…

Read More