10 दिसम्बर शहीद वीरनारायण सिंह बलिदान दिवस

सोनाखान के हीरा बेटा सोनाखान जमींदार रहय तैं, नाम रहय वीरनारायन। परजा मन के पालन करके, करत रहय तैं सासन।। इखरे सेवा मा बित गे जिनगी, अउ बितगे तोर जवानी। सोनाखान के हीरा बेटा, तैं होगे अमर के बलिदानी।। परिस अकाल राज मा तब ले, चलय न सकिस गुजारा। सबके मुख मा तहिं रहय, अउ तहिं उखर सहारा।। भरे गोदाम […]

Continue reading »

सरगुजिहा लोक गीत – जाड़ा

हाय रे जाड़ा हाय रे जाड़ा ऐसो एतेक बैरी हो गे ठिठुरत हवे हाड़ा हाय रे…….. भिनसारे गोदरी में दुबके सूते रहथो, कईसे उसरी काम बूता मने मने कहथो, अकड़ल हाथे हाय रे दाई कईसे झाड़ो,आंगन बाड़ा हाय………. हालू हालू उसरा के बूता घामा तापत रहथों, जीते जायल घामा उते खटिया खींचत रहथों, छिंड़हा कांचे जाथो त पानी हर लागे […]

Continue reading »
1 2 3 20