छत्तीसगढ़ म छत्तीसगढ़ी भाखा के नइ होत हे विकास

अठ्ठारा बछर होगे हे, हमर छत्तीसगढ़ राज ल बने, अउ दस बछर होवत हे छत्तीसगढ़ राज भासा आयोग ल बने। तभो ले अभी तक छत्तीसगढ़ी भाखा के कोनो विकास नइ हो पाये हे, कतको जघा मनखे मन ये नइ जान सके हे कि छत्तीसगढ़ी ह बोली आए के भाखा। आजो तक ले कतको मनखे मन ये गोठ म संसो करथे, बोली कहबो त पुरा छत्तीसगढ़ म छत्तीसगढ़ी ल गोठियावय नही अउ भाखा हे त अठ्ठारा बछर म ना आयोग अउ न ही सरकार येला अनुसूची म सामिल करा पाये हे। तेखरे सेती छत्तीसगढि़या संगवारी मन छत्तीसगढ़ी भाखा ल बोले अऊ लिखें म संसो करथे। अउ जउन मनखे मन छत्तीसगढ़ी बोले ल जानथे ओ मन ह सबो जघा छत्तीसगढ़ी नइ बोलें, काबर की छत्तीसगढ़ राजेच म हिन्दी बोलाइया अब्बड़ हे कइ के ये भाखा ह जन-जन के भाखा नइ बन पात हे।




कोनो-कोनो बड़े साहित्यकार अउ कवि मन छत्तीसगढ़ी म हँसी ठिठोली कर के मनखे ल गुदगुदात हें अउ अपन गद्दी ल बचां के राखे हे। ओहु म कतको लिखइया मन के लिखे ल बने छत्तीसगढ़ी म साहित्य के पता नई हे कइ हे पाछु छोड़ देथे। अउ अपन मजा ले-ले के छत्तीसगढि़या ल बेवकूफ बनाये परे हें। तेखर सेती छत्तीसगढ़ी भाखा के विकास नइ हो पावत हे। छत्तीसगढ़ म छत्तीसगढ़ी नइ बोलयं तेखर आधा जिम्मेदार छत्तीसगढि़या घलोक हे काबर के परदेसिया मन के बेवकूफ बनाये ले बेवकुफ बन के उंखरे पाछु-पाछु घुमत हें अउ ओहि परदेसिया मन एकठन लालीपाप ल धरा दे हें ‘छत्तीसगढि़या सबले बढ़िया’ बोल के। अउ ओहि ल बोल-बोल के छत्तीसगढ़ीया मन खुस होवत हें। अउ लालीपाप असन चिचोर चिचोर के छत्तीसगढि़या सबले बढ़िया कहत हें अउ येमा होना जाना कुछु नइ हे।




छत्तीसगढ़ राज म घलोक छत्तीसगढ़ी बोलइया मन के कमी नई हे फेर हमर छत्तीसगढ़ के सब्बो जिला म छत्तीसगढ़ी भाखा बोलईया मन म थोरकन अंतर घलोक मिल जाथे, तेखरे सेती छत्तीसगढ़ी भाखा ह अउ आघु नई बढ़ पावत हे। जब तक येला अनुसूची म सामिल कर के पूरा छत्तीसगढ़ म छत्तीसगढ़ी बोलाइया मन एक समान नइ आहि ये हा आघु नई बढ़ पाही। येखर बर सबले पहली सब्बो छत्तीसगढ़ी संगवारी मन के हक बनथे की अपन भाखा म गोठियावयं अउ दुसरो मन कने अपने भाखा म गोठियावयं, कोनो दूसर राज ले अवइया मनखे मन छत्तीसगढ़ी भाखा नइ समझयं त उमन सीखयं, हमन ल अपन भाखा ल बदलना ल नइ चाहि।

अनिल कुमार पाली
तारबाहर बिलासपुर छत्तीसगढ़।
प्रशिक्षण अधिकारी आई टी आई मगरलोड धमतरी।
मो.न.-7722906664,7987766416
ईमेल:- anilpali635@gmail.com
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”ये रचना ला सुनव”]


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *