छत्तीसगढ़ी के सर्वनाम





मैं / मैं हर (मैं) – मैं दुरूग जावत रहेंव/ मैंं हर दुरूग जावत रहेंव।
हमन (हम) – हमन काली रईपुर जाबो।
तैं / तें हर (तुम) – तैं का करत हस? / तैं हर का करत हस?
तुमन (आप लोग) – तुमन कहां जावत हव। (बहुवचन)/ तुमन बने दिखत हव। (एकवचन)
ओ / ओ हर (वह) – ओ खावत हे। / ओ हर खावत हे।
ओमन (वे) – ओमन नई खईस।
ए,/ एहर (यह) – ए कुकुर आए। / ए हर कुकुर आए। (एकवचन)
एमन (ये) – एमन बिलासपुर ले आवत हें। (बहुवचन)

छत्‍तीसगढ़ी भाषा संबंधी हमारेे इस प्रयास में कोई त्रुटि या कमी हो तो कृपया टिप्‍पणी करके सुझाव देवें।



Related posts:

2 comments

  • S. P. Choubey

    बड़ सुग्घर उदीम हे 36 गढ़ी बोली ला भाषा के दरजा देवाय बर बियाकरण के जरुरत परही। उदीम ला अन्जाम तक पहुंचना चाही

  • लक्ष्मी नारायण लहरे ,साहिल ,

    बहुतेच सुघ्घर ,जय हो ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *