छत्तीसगढ़ी भाषा में रिश्ते-नाते

दाई / महतारी / दइ = माँ (Mother)
ददा = पिता (Father)
बबा = दादा (Paternal Grandfather)
डोकरीदाई = दादी (Paternal Grandmother)
कका = चाचा (Father’s Younger Brother)
काकी = चाची (Father’s Younger Brother’s Wife)
नानी / आजी, ममादाई = नानी (Maternal Grandmother)
नाना /आजा बबा = नाना (Maternal Grandfather)
मौसी दाई = सौतेली माँ (Step Mother)
मौसी = मौसी (Mother’s Sister)
मौसा = मौसा (Mother’s Sister’s Husband)
ममा = मामा (Mother’s Brother)
मामी = मामी (Mother’s Brother’ Wife)
भई / भईया = माई (Brother)
भौजी = भाभी (Brother’s Wife)
बहिनी / दीदी = बहन (Sister)
बहनोई = छोटी बहन का पति (Brother-in-law)
जीजा = बंडी बहन का पति -जीजा (Sister’s Husband)
फूफा = पिता की बहन का पति (Father’s Sister’s Husband)
फुफु दीदी बुआ = पिता की बहन (Father’s Sister)
ससुर = ससुर (Wife’s/ Husband’s Father)
सास = सास (Wife’s/ Husband’s Mother)
पत्तो / बहुरिया = बहू (Daughter in Law)
बहु = बेटे की पत्नी (Daughter in Law)
सारी = साली (Wife’s Sister)
सारा = साला (Wife’s Brother)
डेढ़ सास = पत्नी की बङी बहन (Wife’s elder Brother’s Wife)
डेढ़ सारा = पत्नी का बडा भाई (Wife’s elder Brother)
साढू = साली डेढ सास का पति (Wife’s Sister’s Husband)
सरहज = साला डेढ साला की पत्नी (Wife’s Brother’s Wife)
ननंद = पति की बहन (Husband’s Sister)
नंदोई = पति के बहन का पति (Husband’s Sister’s Husband)
कूरा ससूर / जेठ = पति का बड भाई (Husband’s elder Brother)
देवर = पति का छोटा भाई (Husband’s younger Brother)
देवरानी = देवर की पत्नी (Husband’s younger Brother’s Wife)
जेठानी = जेठ की पत्नी (Husband’s elder Brother’s Wife)
ममा ससुर = पत्नी/पति का मामा (Wife’s/Husband’s Uncle)
मामी सास = पत्नी/पति की मामी (Wife’s/Husband’s aunt)
मौसा ससुर = पत्नी/पति का मौसा (Wife’s/Husband warts)
मौसी सास = पत्नी/पति की मौसी (Wife’s/Husband’s aunt)




नना ससुर = पत्नी/पति का नाना
नानी सास = पत्नी/पति की नानी
कका ससुर = पत्नी/पति का चाचा
काकी सास = पत्नी/पति की चाची
फूफा ससुर = पत्नी/पति की बूआ का पति
फुफु सास = पत्नी/पति की बूआ
बेटा = बेटा (Son)
बेटी = बेटी (Daughter)
भाईबहू = छोटे भाई की पत्नी
ढेंढा = विवाह की रस्म कराने वाला (जीजा या मामा)
ढेंढिन = विवाह की रस्म कराने वाली (बडी बहन / दीदी या बुआ)
सुआसिन = ससुराल पक्ष की विवाह की रस्म कराने वाली
सुआसा = ससुराल पक्ष का विवाह की रस्म कराने वाला
बिहइ = विवाह कर लायी गई पत्नी
उदढरिया = भगाकर लायी गई पत्नी
मितान, गियाँ = मित्र (Friend)
डौकी /गोसइन /घरवाली / सुआरी / = पत्नी (Wife)
डौका / गोसइयॉ /घरवाला, लगवार = पति (Husband)

उपर दिये गए शब्‍दों में सुधार या सुझाव देकर भाषा को समृद्ध करने में सहयोग करें.
छत्‍तीसगढ़ी में शरीर के अंग

Related posts:

8 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *