हमर छत्तीसगढ़

गुरतुर हमर भाखा सिधवा हमर चाल हे।
ऐ छत्तीसगढ़िया बड़ा कमाल हे…….2।
अरपा पैरी हसदो के निरमल सुघ्घर पानी हे।
महानदी हे पुण्य सलिला एहि हमर जिंदगानी हे।
ये भुइयां के बात अलग हे…2
राम के इहाँ ननिहाल है
मोर छत्तीसगढ़िया बड़ा कमाल के…2।

नदिया नरवा झिरिया म देवता धामी बइठे है।
रुख राई के पांव पखारेन

सब म ईश्वर देखे हे।
जम्मो कोती हे भाईचारा…2
नही कोई जंजाल हे
मोर छत्तीसगढ़िया बड़ा कमाल के…2।

घर म आइन पहूना पाठी
मिलथे बड़ सम्मान जी
ठेठरी खुरमी कडुवा पपची
हमन के पकवान जी।
नून मिर्चा के चटनी संग हो..2
बासी ल खात मितान हे
मोर छत्तीसगढ़िया बड़ा कमाल के।..2

रतनपुर शिवरीनारायण म
माघी मेला के शोर हे,
राजिम के कुंभ मेला के
चारो मुड़ा जोर हे।
लश्मनेश्वर धाम खरौद के हो
काशी के दरजा पात हे
मोर छतीसगढ़िया अबड़ कमाल के..2।

मैनपाट ह शिमला जइसे चैतुरगढ़ कश्मीर हे
डोंगरगढ़ के बमलई माई
चित्रकोट सुघड़ तस्वीर हे।

नागर धर के निकले भाई…..
धरती हमर महान हे
मोर छत्तीसगढ़िया अबड़ कमाल के…..2।

अविनाश तिवारी
अमोरा
जांजगीर चाम्पा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *