खेत के धान ह पाक गे

दुख के बादर ह भाग गे ,खेत के धान ह पाक गे
देख किस्मत ह जाग गे ,जतनाए रखवारी राख के!

भागिस कुंवार कातिक आगे हमागे जड़काला
हरियर लुगरा पिंवर होगे,सोनहा सोनहा माला
बने फूलिस बने फरिस बोये बिजहा मांग के
दुख के बादर……..,

जोरा करले तै पानी पसिया के जोर ले संगी साथी
करमा ददरिया झड़त झड़त ,टेंवाले हंसिया दांती
बिताए दिन चौमासा लई मुर्रा ल फांक के,
दुख के बादर………,

चरर चरर हंसिया चले ओरी ओरी करपा
भरर भईया कोकड़ा भागे मुसवा जोरफा जोरफा
बिला म कंसी गोंजाये मुसवा डोहारे चाब के
दुख के बादर………,

तोर पछिना धरती म गिरके बनगे भईया अमरीत
जिंहा जिंहा तोर पांव धराये ,माटी होगे पबरीत
ए भूंईया के तिही गिरोंडी मुड़ी म शेषनाग के
दुख के बादर ……..!!!

ललित नागेश
बहेराभांठा (छुरा)
lalitnagesh83 @ gmail.com



Related posts:

2 comments

  • muze b apna blog hindi me likhna hai par main google input tool ka prayog kar raha hu par ye achha nahi dikh raha

    kipya sahayata kare maine abhi tak ek hi blog banaya hai par uske fount ya to ekdam bade hai ya ekdam chote kripya aa meri site me jakar dekhe ye kitna bhadda dikh raha hai aapne ye fount kaise set kiya bataye

    http://www.englishinbhilai.com

    • वेब प्‍लेटफार्म म रंग-रंग के गूगल देवनागरी फोंट (fonts.google.com) हवय भाई। आप अपन साईट म येला बउर सकत हव। फोंट छोटे-बड़े करे बर कोडिंग करे बर परही। वर्डप्रेस म येकर प्‍लगिन आथे तेला लगा लव या अपन वेबसाईट बनइया ल कहव।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *