लइका बर खसरा अउ रुबैला टीका

समाज अउ सरकार दूनो हा लइका मन के स्वास्थ अउ इलाज बर नवा नवा उदिम करत हवय।देस के भविष्य, 9 महिना से लेके 15 बच्छर के लइका मन ला बने बने राखेबर टीकाकरन अभियान चलाय जावत हे। एमा शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, महिला बाल विकास अउ पंचायत विभाग संघरा मिलके प्रचार प्रसार करत हे। 6 अगस्त से 15 अगस्त के बीच टीकाकरन हफ्ता मनाय जाही। इस्कूल, स्वास्थ्य केन्द्र, सरकारी अस्पताल अउ आँगनबाड़ी मा टीका लगाय जाही।
अइसे तो लइका के जनम धरे के पाछू ले डेढ़ बच्छर तक होवत ले कतको टीका लगाय जाथे जेमा बीसीजी,हिपेटाइटिस ए, बी,खसरा, डिप्थीरिया, टेटनस, पोलियो ,एच आई बी, मम्प्स, कालरा, टी सी वी अउ आनी बानी के।अब खसरा अउ रुबैला ले बचाव बर लइका मन ला टीका लगाय जावथँय। ये दूनो जान लेवा बीमारी आय। एकर रोकथाम बर एचआईबी, रोटावाइरस, मम्प्स, टीसीवी,टेटनस, चिकनपोक्स,एम एम आर अउ आनी बानी के टीका हे। एमा हिपेटाइटिस बी के खुराक ला अस्पताल मा लइका के जनम धरे पाछू लगाय जाथय। टीका हा लाइका के रोग प्रतिरोधक ताकत ला बढ़ाथय।जीवानु अउ विसानु ले लड़े के बल घलाव देथय।टीबी, गलघोंटू, काली खाँसी,तपेदिक, मोतीजीरा, कंठमाला, कालरा अइसने काइ किसिम के बिमारी ले बचाय बर टीकाकरन बहुतेच जरुरी हवय। सरकार के सोंच कि देस के लइका मन ला सुरक्षित रखे के जरुत हवय, एमा सबो के भाग लेना जरुरी हवय।




खसरा के बिमारी हा प्रान लेवइयच आवय। जौन वाइरस ले बगरथे। खसरा बीमारी के सेती आज लइका मन गोरवा,लुलवा, दिव्यांग , पोचवा, कमजोरहा जनम लेत हवय।कतको जनम लेतेसाट मर जावत हे।खसरा हा बगरने वाला बीमारी आय। खसरा होय मनखे हा कोनो खाँस दिस, छींक दिस तब आगू मा खड़े मनखे ला घलो खसरा हो जाही ये सोला आना बात आय।
अइसने रुबेला घलाव हरय।रुबेला के कोनो इलाज नइ हे।टीकाकरण ले ही बाँचे जा सकत हवय। रुबेला के लक्षण मा कुनकुनहा बुखार, उल्टी उल्टी असन लागना, आखी हा कम दिखना, कान के पाछू कोती अउ नरी हा उसवाना(सूजना), हाथ गोड़ के छोंड़ छोंड़ मा पीरा होना। रुबेला हा आँखी ,कान, दिमाग अउ हिरदे ला जादा मार करथे।
संसार भर मा 40 बच्छर पहिली ले एम आर टीका लगाय जावत हे । एम आर अउ एम एम आर के टीका 149 देश में लइका मन ला लगाय जावत हे।ये पारी सरकार हा इस्कूल मा मास्टर मास्टरिन, अउ लइका के दाईददा ला संउहत खड़ा होके टीका लगाय बर उदिम करत हे।इस्कूल अउ अस्पताल ला एकर सेती चुनई करे हवय काबर कि ए उमर के लइका मन दिन मा इही ठउर मा सोझे मिल जाही।एकर बर गुरुजी मन ला प्रशिक्षण घलो देईन हे।
खसरा अउ रुबेला के टीका ओ लइका मन ला नइ लगाना है जौन ला जादा बुखार हवय। जौन ला मिरगी आथे। जेन अस्पताल मा पहिलिच ले भरती हवय अउ जेन ला टीका लगाय ले एलर्जी होय के डर हवय।तहान सब लइका जौन 9 माह ले 15 बच्छर के हवय ओला जरुर लगवाना हे ।
अपन लइका के निरोग अउ स्वस्थ जिनगी बर खसरा अउ रुबेला के टीका जरुर लगवावव।

हीरालाल गुरुजी”समय”
छुरा,जिला- गरियाबंद

संघरा-मिंझरा

Leave a Comment