तोर मया

जड़कल्ला म गोरसी आगी कस, पंडवानी के रंगधरी रागी कस जोर जुलूम में बिदरोही-बागी कस, बडे-बुजुरूग में नेवत पै लागी कस, रुस-रुस लागथे तोर मया॥ धपकाला म करसी पानी कस, चन्दा के ओग्गर जवानी कस, सुघ्घर राज के रजधानी कस लाल-लाल कलिन्दर चानी कस, गुरतुर लागथे तोर मया॥ करमा के मांदर थाप कस ददरिया के तान अलाप कस नवां घर […]

Continue reading »

सबले बड़े पीर

फोरा परे जे हाथ मे मिटगे हे लकीरपीरा के संसार में सबले बड़े पीर।सबले बड़े पीर लिख्रय देश के तकदीर।पीरा के संसार में … माथा ले चुचुवाय कतको कारी पछीनामिहनत संग जीना इंखर मिहनत हे मरना।बिपत संग खेले ये मन तक-धीन, धी-धीना,सीखे हे शंकर कस, करू-कासा ल पीना।पसिया ल पी खुद, खवाए दूसर ल खीर॥पीरा के संसार में … बड़े-बड़े […]

Continue reading »