तोर मया

जड़कल्ला म गोरसी आगी कस, पंडवानी के रंगधरी रागी कस जोर जुलूम में बिदरोही-बागी कस, बडे-बुजुरूग में नेवत पै लागी कस, रुस-रुस लागथे तोर मया॥ धपकाला म करसी पानी कस, चन्दा के ओग्गर जवानी कस, सुघ्घर राज के रजधानी कस लाल-लाल कलिन्दर चानी कस, गुरतुर लागथे तोर मया॥ करमा के मांदर थाप कस ददरिया के तान अलाप कस नवां घर

Read more

सबले बड़े पीर

फोरा परे जे हाथ मे मिटगे हे लकीरपीरा के संसार में सबले बड़े पीर।सबले बड़े पीर लिख्रय देश के तकदीर।पीरा के संसार में … माथा ले चुचुवाय कतको कारी पछीनामिहनत संग जीना इंखर मिहनत हे मरना।बिपत संग खेले ये मन तक-धीन, धी-धीना,सीखे हे शंकर कस, करू-कासा ल पीना।पसिया ल पी खुद, खवाए दूसर ल खीर॥पीरा के संसार में … बड़े-बड़े

Read more