डोंगरी पहाड़ में

डोंगरी पहाड़ में ओ, अमरईया खार में। दूनों नाच लेबो ओ.. करमा के डाँड़ में।। डोंगरी पहाड़ में…….. आमा के पाना हा डोलत हावै ओ। सुआ अउ मैना हा बोलत हावै ओ।। ए बोलत हावै ओ…. रुखवा के आड़ में। दूनों नाच लेबो ओ…. करमा के डाँड़ में। डोंगरी पहाड़ में………. मया के बिरुवा हा फूलत हावै गा। तोर मोर […]

Continue reading »

मेला घुमाई दे

ए जोड़ीदार,चल मोला मेला घुमाई दे। राजिम धाम के संगम मा, मोला डुबकी लगाई दे।। ए जोड़ीदार…. लगे हावय मोला आसा,महुँ चली देतेंव। महानदी के धारी मा,तन डुबोई लेतेंव।। राजिम लोचन स्वामी ला, पान अउ सुपारी चढ़ाई दे। ए जोड़ीदार….. महादेव कुलेश्वर हा,नदिया बीच पधारे हे। चारों मुड़ा लगे रेला,अपन रूप पसारे हे।। जघा जघा साधू संत बिराजे, अमरित बानी […]

Continue reading »
1 2 3 9