सरवपीतरमोछ अमावस

हमर भारतीय संसकिरीति पूरा विस्व म सबसे पुराना अऊ सनातन हावय। हमर हिंदू धरम के अनुसार जेहा पिरिथिवी लोक म जनम लेहे हाबय ओखर मरना निसचित हाबय। चाहे वो ह भगवान के अवतार राम भगवान हो चाहे किसन भगवान हो। भगवान राम घलो ह अपन पितर मन के तरपन करे रहिस। हमन अपन परिवारदार के सरगवासी होय के बाद पितर मिलाथन। भादो के उजियारी पाख पुन्नी से लेके असवीन मास के अमावस जेला सरवपितरमोछ अमावस्या कईथन, तक हमन अपन पितर देवता मन के पूजा-अरचना करथन। ’’श्रद्धा इदं श्राद्धम्’’ मतलब जो…

पूरा पढ़व ..

हमर देस राज म शिक्षक के महत्तम

कोनो भी देस के बिकास ह सिछक के हाथ म होथे काबर के वो ह रास्ट्र के निरमान करता होथे। वो ह देस के भबिस्य कहे जाने वाला लईकरन मन ल अपन हर गियान ल दे के पढ़ईया लईकरन मन ल ये काबिल बनाये के कोसिस करथे के वो ह देस के बिकास के खातिर कोनो भी छेत्र म सहयोगी बन सकय। हर मनखे के जीनगी म गुरू के बिसेस हमत्तम हावय। हमर देस राज म गुरू अउ सिस्य के परंपरा सनातन काल ले चले आवत हे। हर देस म…

पूरा पढ़व ..