दानी राम बंजारे और जानकी बाई बंजारे द्वारा प्रस्‍तुत गोपी चंदा गाथा


मत जाना रे बालक बेटा कौरू नगर मत जाना
मत जाना रे गोपी चंदा कौरू नगर मत जाना
कौरू नगर के अटपट हे जादू कोई पारे नइ पाया
बड़े-बड़े राज हॅ पथरा गा होगे ।
वापस कोनो नहीं आया रे बालक
देखे करम ला छाड़ दीस कथंव
मत जाना रे बेटा कौरू नगर मत जा। मत जा बेटा।

कामरूप के तिलस्‍मी संसार को जीवंत चित्रित करती अद्भुत और पल-पल रोमांचित करती छत्‍तीसगढ़ी लोकगाथा आडियो-वीडियो, टैक्‍स्‍ट और हिन्‍दी अनुवाद के साथ सहपीडिया में इस लिंक Gopichanda performed by Dani Ram Banjare and Janaki Bai Banjare में उपलब्‍ध है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *